Thursday, 3 October, 2013

प्रभात 41

मन आंगन में पड़ी स्नेह वर्षा फुहार
खिली उठी धरा, खिला मन का संसार
आया नव दिवस लिए फिर स्वपन हजार
आओ प्रीत से ले आयें हर जीवन में बहार
शुभ मंगल प्रभात शुभ दिवस
11.52am, 15 jan 2012

man aangan mein padi sneh varsha fuhar
khil uthi dhara, khila man ka sansar
aaya nav diwas liye fir swapn hajar
aao preet se le aayein har jeevan mein bahar

shubh mangal prabhat

2 comments: