Wednesday, 18 January, 2012

प्रभात 25


नहीं  होता  सवेरा  केवल  सूर्योदय  से

 
नैनों  में  भी  ये  प्रकाश  भरना  होता  है
नहीं  होते  खुशहाल  स्व-घाव  पर  दवा  लगाने  से
नयनों  से  औरों  के  भी  आंसू  को पोंछना  होता  है
शुभ  प्रभात
 14-10-2011
Nahi hota savera kewal suryoday se
Naino mein bhi ye prakash bharna hota hai
Nahi hote khushhaal sva-ghaav par dawa lagane se
Nayano se auron ke bhi aansu ko ponchhna hota hai
Shubh prabhat

3 comments:

  1. कल 20/01/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    ReplyDelete
  2. बहुत अच्छे विचार..
    शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete